संयुक्त किसान मोर्चा ने दी भाजपा सांसदों और विधायकों को ताजा धमकी

0
4


नई दिल्ली। संयुक्त किसान मोर्चा ने भारतीय जनता पार्टी के सांसदों और विधायकों को साफ-साफ चेतावनी दी है कि वे उनके आंदोलन का समर्थन करें, नहीं तो उनका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा। मोर्चा के नेताओं ने कहा कि जिस तरह का देश में माहौल बन रहा है, इसमें आने वाले दिनों में भाजपा नेताओं का घर से निकलना भी दूभर हो जाएगा। संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता स्थिति बदलें। देश के कई हिस्सों में भारतीय जनता पार्टी व अन्य दलों के नेताओं ने कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे संघर्ष को समर्थन देते हुए अपना पद छोड़ा है। मोर्चा के नेता डॉ. दर्शनपाल, गुरनाम सिंह चढूनी, अभिमन्यु कोहाड़ आदि ने कहा कि वह फिर से भाजपा समेत अन्य दलों के नेताओं से अपील कर रहे हैं कि वह आंदोलन का समर्थन करें, वरना वह दिन दूर नहीं है जब लोग नेताओं को गांव में घुसने तक नहीं देंगे।

  इस बीच देशभर में मिट्टी सत्याग्रह यात्रा कुंडली बॉर्डर पर पहुंची। इस यात्रा से लाई गई मिट्टी का इस्तेमाल बार्डर पर बन रहे शहीद स्मारक में किया जाएगा। मिट्टी सत्याग्रह यात्रा शहीद भगत सिंह के गांव खटकड़ कलां, शहीद सुखदेव के गांव नौघरा, उधम सिंह के गांव सुनाम, शहीद चंद्रशेखर आजाद की जन्म स्थली भाभरा, झाबुआ, मामा बालेश्वर दयाल की समाधि बामनिया, साबरमती आश्रम, सरदार पटेल के निवास, असम में शिव सागर, पश्चिम बंगाल में सिंगुर और नंदीग्राम, उत्तर दीनाजपुर, कर्नाटक के वसव कल्याण एवं बेलारी होते हुए कुंडली बॉर्डर पर पहुंची है।